भारतीय संविधान की अनुसूचियाँ

भारतीय संविधान की अनुसूचियाँ | भारत के मूल संविधान में मूलतः आठ अनुसूचियाँ थीं परन्तु वर्तमान में भारतीय संविधान में बारह अनुसूचियाँ हैं। संविधान में नौवीं अनुसूची प्रथम संविधान संशोधन 1951, 10वीं अनुसूची 52वें संविधान संशोधन 1985, 11वीं अनुसूची 73वें संविधान संशोधन 1992 एवं बाहरवीं अनुसूची 74वें संविधान संशोधन 1992 द्वारा सम्मिलित किया गया।भारतीय संविधान

प्रथम अनुसूची :

इसमें भारतीय संघ के घटक राज्यों एवं संघशासित क्षेत्रों का उल्लेख है |

भारतीय संविधान की द्वितीय अनुसूची :

इसमें भारतीय राजव्यवस्था के विभिन्न पदाधिकारियो को प्राप्त होने वाले वेतन, भत्ते और पेंशन आदि का उल्लेख किया गया है |


तृतीय अनुसूची :

इसमें विभिन्न पदाधिकारियों द्वारा पद – ग्रहण के समय ली जाने वाली शपथ का उल्लेख है |

भारतीय संविधान की चौथी अनुसूची :

इसमें विभिन्न राज्यों तथा संघीय क्षेत्रों का राज्यसभा में प्रतिनिधित्व का विवरण दिया गया है |

पाँचवी अनुसूची :

इसमें विभिन्न अनुसूचित क्षेत्रों और अनुसूचित जनजाति के प्रशासन और नियंत्रण के बारे में उल्लेख है |

भारतीय संविधान की छठी अनुसूची :

इसमें असम, मेघालय, त्रिपुरा,और मिजोरम राज्यों के जनजातीय क्षेत्रों के प्रशासन के बारे में प्रावधान है |

सातवीं अनुसूची :

इसमें केंद्र एवं राज्यों के बीच शक्तियों के बंटवारे के बारे में दिया गया है | इसके अंतर्गत तीन सूचियाँ हैं — संघ सूची, राज्य सूची, एवं समवर्ती सूची |

आठवीं अनुसूची :

इसमें भारत की 22 भाषाओ का उल्लेख किया गया है | मूल रूप से इसमें 14 भाषाएँ थीं |

भारतीय संविधान की नौवीं अनुसूची :

संविधान में यह अनुसूची प्रथम संविधान संशोधन अधिनियम,1951 द्वारा जोड़ी गई | इसके अंतर्गत राज्य द्वारा संपत्ति के अधिग्रहण की विधियों का उल्लेख किया गया है |

दसवीं अनुसूची :

संविधान के 52वें संशोधन,1985 द्वारा जोड़ी गई, इसमें दल -बदल से सम्बंधित प्रावधानो का उल्लेख है |

ग्यारहवी अनुसूची :

यह अनुसूची संविधान में 73वें संवेधानिक संशोधन (1993) द्वारा जोड़ी | इसमें पंचायती राज संस्थाओ को कार्य करने के लिए 29 विषय प्रदान किये गए हैं |


भारतीय संविधान की बारहवीं अनुसूची :

यह अनुसूची संविधान में 74वें संवेधानिक संशोधन (1993) द्वारा जोड़ी गई | इसमें शहरी क्षेत्र की स्थानीय स्वशासन संस्थाओ को कार्य करने के लिए 18 विषय दिए गए हैं |

भारतीय संविधान के स्त्रोत- जाने

1 thought on “भारतीय संविधान की अनुसूचियाँ”

Leave a Comment